>मंत्रेश्वर झा जी के साहित्य अकादमी पुरस्कार

>                                                                                            मिथिलाक… मैथिलीक मंत्रेश्वर झाजी के ‘कतेक डारि पर’  किताब के लेल 2008 के साहित्य अकादमी पुरस्कार सं सम्मानित कएल गेलन्हि.   ई किताब हुनकर संस्मरण पर छनि.   झा जी के कविता… कहानी… नाटक… एकांकी… व्यंग्य पर कइटा किताब छपल छनि.  जेहि मे  खाधि…  अनचिन्हार गाम… बहसल रातिक इजोत… पान एलैए मखान एलैए… कांटक जंगल आ पलास… बालु परहक अल्पना…  चलय पनिभरनी… ओझा लेखे गाम बताह… टोंटानाथक चिट्ठी… फूसि फासि एकेडमी… प्रायश्चित…  समारोह…  चक्रवात…  चक्रव्यूह… पराजय… किएक चुप अछि बसंती…  सौभाग्यवती भव… विकट पाहुन… रिहर्सल… बहुरुपिया… धूर्तनगरी…  चाही एकटा नोकर…  पैघ लोक आओर एक बट्टे दो शामिल छनि.  मंत्रेश्वर जीक जन्म 6 जनवरी 1944 के मधुबनी के लालगंज मे भेलन्हि.   श्री झा रिटायर आईएएस अधिकारी छथिन्ह.  1967 मे  IAS  बनला के बाद बेगूसराय आओर सिंहभूम के डीएम  सेहो रहलाह.

                                                                                                                                  एहि बेर पुरस्कृत कृति मे भारतीय भाषाक सातटा उपन्यास… सातटा काव्य संग्रह… तीनटा आलोचनात्मक ग्रंथ…  पांचटा कहानी संग्रह आ एकटा संस्मरण शामिल अछि.  हिंदी के लेल ई पुरस्कार गोविन्द मिश्र जीके  ‘कोहरे में कैद रंग’   के लेल देल गेलन्हि.   पुरस्कार पाबय वाला मे तीनटा महिला सेहो छथिन्ह.   पुरस्कार के रूप मे 50 हजार रुपया… एकटा शॉल आओर स्मृति चिह्न देल गेलन्हि.  पुरस्कार साहित्य अकादमी के अध्यक्ष सुनील गंगोपाध्याय देलखिन्ह.  एहि बेर जे 23 टा  पुरस्कार देल गेल ओ ऐना अछि-

रीता चौधरी (असमिया), 
विद्यासागर नार्जारी (बोडो), 
गोविंद मिश्र (हिन्दी), 
श्रीनिवास बी. वैद्य (कन्नड़), 
अशोक एस. कामत (कोंकणी),
श्याम मनोहर (मराठी) 
मित्र सैन मीत (पंजाबी)
शरत कुमार मुखोपाध्याय (बांग्ला), 
चंपा शर्मा (डोंगरी), 
अराबम ओम्बी मेमचौबी (मणिपुरी), 
प्रमोद कुमार मोहंती (ओड़िया), 
ओमप्रकाश पांडे (संस्कृत), 
चिटिप्रोलु कृष्णमूर्ति (तेलुगू) 
जयंत परमार (उर्दू) 
गुलाम नबी आतश (कश्मीरी), 
दिवंगत केपी अप्पन (मलयालम) 
हीरो शेवकाणी (सिंधी) 
मंत्रेश्वर झा (मैथिली)
सुमन शाह (गुजराती), 
हायमन दास राई किरात (नेपाली), 
दिनेश पांचाल (राजस्थानी), 
बादल हेम्ब्रम (संथाली) 
आओर मेलणमई पोन्नुसामी (तमिल)
This entry was posted in Uncategorized. Bookmark the permalink.

4 Responses to >मंत्रेश्वर झा जी के साहित्य अकादमी पुरस्कार

  1. Anonymous says:

    >Dekhi aa padhi ka bahut nik lagait achi. Bahut bahut dhanyawad. Birendra ChaudharyNewsX NOIDAMobile: 9871929800bkchaudhary@hotmail.com

  2. Anonymous says:

    >आपका ब्लाग बहुत अच्छा है. सारे लोग के भोजपुरी प्रयास का आपने बहुत बढिया तोड़ निकाला है. मुझे समझ नहीं आती. पर यह मेरी भी भाषा है। इसलिए सुखद है।शेखावटी महोत्सव से लौटते ही आप में जुनून सा चढ़ गया क्या.पुनिता

  3. Anonymous says:

    >अहन सब तारीफ के पात्र छी, जे ऐतक सुंदर ब्लॉग द्वारा मैथिल के जोरने छी | हमर सबहक ब्लॉग vmymindia.blogspot.com पर आबी और अपन विचार व्यक्त करी | — with regardsDILIP JHA

  4. Anonymous says:

    >Dear Hitender ji Thanks & RegardsParasSeatrans Agencies Pvt. Ltd.8, Krishna mkt.3rd floor Kalkaji, New Delhi 110019Ph : 42576044-45, 26439875,76Fax : 26289022

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s